पन्नों का आसमाँ!

पन्नों का आसमाँ… पन्नों का आसमाँ

उसपे तारों का कारवां … तारों का कारवां

चमकीली बुलबुलाहट लिए

रौशन सा समाँ ….रौशन सा समाँ!

पन्नों का आसमाँ… पन्नों का आसमाँ

किरणों की खिलती रागिनी में

चहकता सा जहाँ…. चहकता सा जहाँ

चढ़ते धूप की आजमाईश …

के जोश का जहाँ….

उतरते सूरज की ख्वाइश में …

खामोश राहत का जहाँ ….खामोश राहत का जहाँ

पन्नों का आसमाँ… पन्नों का आसमाँ

बादलों सी उमड़ती घुमड़ती साजिशें

उसपे बिजलियों की कड़कती आदतें

बूंदों की खनखनाहट में आप हो गवां

रिमझिम बोलियों की है कोई पनाह

पन्नों का आसमाँ… पन्नों का आसमाँ

चाँद भी है खेलता खोजता …. यहाँ अपनी दास्ताँ

लुका छिपी में तौलता हर सुखन की जुबां

पन्नों का आसमाँ… पन्नों का आसमाँ

पन्नों का आसमाँ… पन्नों का आसमाँ

तृप्ति

20 नवम्बर 2021